मौलवी अलाउद्दीन हैदर स्वतंत्रता-संग्राम 1857 के क्रांतिकारी थे

मौलवी अलाउद्दीन हैदर स्वतंत्रता-संग्राम 1857 के क्रांतिकारी थे। हैदर का जन्म 1824 ई• में तेलंगाना राज्य के नलगोंडा ज़िले में हुआ था। उन्होंने इसलामी तौर तरीकों से...

जंग ए आज़ादी के शहीद अशफ़ाक़ उल्लाह खान और पंडित रामप्रसाद बिस्मिल का कुछ...

जंग ए आज़ादी के शहीद अशफ़ाक़ उल्लाह खान और पंडित रामप्रसाद बिस्मिल का कुछ दिन पहले बलिदान दिवस था। आज से 95 साल पहले महज़ सत्ताईस साल की...

फाँसी से एक दिन पूर्व फाँसी पाने वाले व्यक्ति को उसके सगे सम्बन्धियों से...

फाँसी से एक दिन पूर्व फाँसी पाने वाले व्यक्ति को उसके सगे सम्बन्धियों से भेंट का अवसर मिलता है। ठाकुर मुरलीधर ठकुराइन को साथ ना लाये थे...

बहादुर शाह ज़फ़र के यौमे वफ़ात पर……

बहादुर शाह ज़फ़र की ये तस्वीर देखता हूँ, तो मुझे एक खूबसूरत शख्सियत नज़र आती है जिसने ग़रीब किसान भूमिहार जनता की मांग पर 1857 की क्रांति...

असगरी बेगम,जिनका इतिहास के पन्नो से या तो गुम हो गया या हमने ढूढने...

एक ऐसी मुस्लिम महिला, जिनका नाम इतिहास के पन्नों में या तो गुम गया या फिर हमने कभी ढूंढने का कोशिश ही नहीं किया। 1811 में जन्मी...

एक महिला शाहजहां की कहानी जिसका इतिहास कम लोग जानते है

मुग़ल सम्राट शाहजहां को कौन नहीं जानता जिन्हें शानदार इमारतें तामीर करने का शौक था ताज महल , लाल किला समेत आगरा , दिल्ली , लाहौर और...

उन्नाव:हिंदुस्तान और मुग़लों के पर्याय का यह सिलसिला रंगून में बहादुर शाह ज़फ़र की...

ज़िला उन्नाव/अक्टूबर 1755 ईस्वी में आख़री मुग़ल बादशाह बहादुर शाह ज़फ़र की पैदाईश हुई थी। जब वह बादशाह बने, तब तक देश के काफ़ी बड़े इलाक़ों पर...

गोरखपुर के लाल अश्वनी कुमार ने शांति दूत का पुरस्कार को किया हासिल

अश्वनी कुमार श्रीवास्तव जो कि जनप्रिय बिहार कॉलोनी हुमायूंपुर उत्तरी गोरखनाथ गोरखपुर के निवासी हैं और वर्तमान में उच्च न्यायालय इलाहाबाद में अधिवक्ता के रूप में कार्यरत...

उन्नाव:आईये जानते है अपने राष्ट्रीय ध्वज में रंग किसने दिया था

इतिहासकार Trevor Royle अपनी किताब The Last Days of the Raj में लिखते हैं राष्ट्रध्वज का आखिरी प्रारूप जिसमे अशोक चक्र बीच में और ऊपर केसरिय बीच...

राष्ट्रगान के रचनाकार रविंद्र नाथ टैगोर को दी श्रद्धांजलि

चैरिटी सोशल सर्विस संस्था द्वारा गांव तोछीगढ़ में भारत के राष्ट्रगान 'जन गण मन व बांग्लादेश के राष्ट्रगान 'आमार सोनार बांग्ला' के रचनाकार, एशिया के प्रथम नोबेल...