राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश- जनपद शाखा गोरखपुर.

गोरखपुर/राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज माननीय स्वतंत्र देव सिंह, प्रदेश अध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश, के जनपद आगमन पर कालीबाड़ी मंदिर (रेती चौक) पर मिलकर कर्मचारियों की समस्याओं को विस्तारपूर्वक बताते हुए उन्हें एक ज्ञापन दिया: रूपेश_

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष से विशेष अनुरोध कर कर्मचारियों की पीड़ा को संज्ञान में लेकर माननीय मुख्यमंत्री जी से समस्याओं को शीघ्र हल करने हेतु निवेदन किया:- अश्विनी

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज माननीय स्वतंत्र देव सिंह, प्रदेश अध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश, के जनपद आगमन पर कालीबाड़ी मंदिर (रेती चौक) पर मिलकर कर्मचारियों की निम्न समस्याओं को विस्तारपूर्वक बताते हुए उन्हें एक ज्ञापन दिया।

•कर्मचारियों की वर्षों से कई मांगें सरकार से सहमति बनने के बाद भी लंबित पड़ी हुई हैं. कृपया इन्हें संज्ञान में लेकर माननीय मुख्यमंत्री महोदय के माध्यम से इनका निस्तारण कराया जाए।
• मुख्यमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट, पंडित दीन दयाल उपाध्याय कैशलेस इलाज योजना अब तक शुरू नहीं हो सका है. जबकि यह कैबिनेट द्वारा पास भी हो चुका है साथ ही मुख्यमंत्री जी द्वारा इसकी घोषणा भी की जा चुकी है परंतु ब्यूरोक्रेसी ने इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया है।विगत दिनों मुख्य सचिव महोदय ने राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश के प्रांतीय अध्यक्ष श्री हरिकिशोर तिवारी के मिलने पर प्रमुख सचिव स्वास्थ्य को बुलाकर पत्रों द्वारा कैशलेस योजना को  तत्काल लागू करने हेतु निर्देशित भी किया था पर इतना समय बीत जाने के बाद भी इस पर कोई कार्यवाही नहीं हुई।मुख्यमंत्री को स्वयं इस मामले को संज्ञान में लेकर उनके ड्रीम प्रोजेक्ट को ठंडे बस्ते में डालने वाले अधिकारियों को दण्डित करते हुए अपने कर कमलों द्वारा कर्मचारियों एवं पेंशनर्स को चुनाव आचार संहिता से पूर्व इस कैशलेस योजना का तोहफा देना चाहिए।
• अक्टूबर माह में अभियान चला कर  सभी विभागों में लंबित पड़ी पदोन्नति को पूरा कराया जाए.
• सभी वर्गों में वेतन विसंगतियों का निस्तारण पूर्ण प्राथमिकता से कराया जाये.
• कर्मचारियों की पुरानी पेंशन की मांग को जिसको लेकर माननीय मुख्यमंत्री जी पूर्व में तत्कालीन प्रधानमंत्री जी को स्वयं पत्र लिख चुके हैं, को चुनाव आचार संहिता लागू होने से पहले बहाल किए जाने की घोषणा की जाये।
• कर्मचारियों एवं पेंशनर्स के मंहगाई भत्ते के बकाए एरियर का भुगतान आगामी त्योहारों से पूर्व अवश्य कराया जाये।

प्रतिनिधिमंडल में मुख्य रूप से रूपेश कुमार श्रीवास्तव, अश्विनी कुमार श्रीवास्तव, प्रभुदयाल सिन्हा, शब्बीर अली (संरक्षक), जयराम गुप्ता, अनूप कुमार श्रीवास्तव, इजहार अली, पृथ्वीनाथ गुप्ता, मुहम्मद आरिफ, योगेन्द्र चौबे, विजय शर्मा, सुनील सिंह, ओमप्रकाश श्रीवास्तव आदि शामिल रहे।

आज का अपराध न्यूज़
रिपोर्ट/ आशीष भट्ट ज़िला गोरखपुर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here