उन्नाव कोरोना महामारी के कारण पिछले साल हुए लाकडाउन मे मानवीय संवेदनाओं को तांख पर रखकर मौकापरस्त स्वार्थी बेरहम लोगों द्वारा गुटखा, हल्दी ,मिर्चा, नमक, चाय ,चीनी, बीड़ी, तेल ,साबुन शैप्पू, सब्जी जैसी रोजमर्रा की चीजों का स्टाक करके मनमुताबिक दामों में बेच कर गरीबों का आर्थिक शोषण किया गया शासन प्रशासन हाथ पर हाथ धरे गरीबों को लुटते हुए धृतराष्ट्र की तरह आँख बंद किए देखता रहा।पिछले साल की लूट से उत्साहित लुटेरे आने वाले समय में लांकडाउन लगने की उम्मीद को देखते हुए सभी जरूरत की चीजों का स्टाक शुरु कर दिया है तो फिर महगाई आना स्वाभाविक है। उन्नाव शहर में सभी दुकानदार जैसे कसाई चौराहे के किराने गुटका मसाले के होलसेलर स्टेशन रोड पर और किले के होलसेलर बाँगरमऊ आसीवन,मियाँगंज, रसूलाबाद,मुंशीगंज मे लोगों ने जरूरत की चीजों को किया डंप जनता को लुटने से बचाने के लिए शासन प्रशासन कृपया जरूरत की चीजों का स्टाक करने वाले लोगों पर नजरें डाल कर लोगों को कोरोना महामारी के साथ आर्थिक शोषण से बचाये।

रिपोर्ट मोहम्मद इरफान खान यूपी हेड आज का आपराध उन्नाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here