कर्नाटक अभिनेता पुनीत राजकुमार का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। उनका निधन उस वक्त हुआ, जब वो जिम में वर्क आउट कर रहे थे। पुनीत की उम्र 46 साल थी। उनके निधन से पूरे कर्नाटक और दक्षिण भारतीय सिनेमा में शोक की लहर फैल गई है। उनकी फैन फॉलोइंग का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि कर्नाटक की सरकार को हालातों को काबू करने के लिए कई इलाकों में धारा 144 लागू करनी पड़ी है।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई खुद अस्पताल पहुंचे हैं। इस खबर के बाद कर्नाटक में सभी थिएटरों को बंद किया जा रहा है। आइए जानते हैं कि कौन थे पुनीत और कम वक्त में अपनी एक्टिंग के जरिए कौन कौन से मुकाम हासिल कर लिए थे
चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर शुरू हुआ करियर
पुनीत ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत एक चाइल्ड

आर्टिस्ट के तौर पर शुरू की थी। उनकी ख्याति का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है अभिनेता के साथ गायक भी
पुनीत सिर्फ एक अभिनेता ही नहीं थे बल्कि एक गायक भी थे। उनका जन्म 17 मार्च 1975 को हुआ था। उन्होंने साल 2002 में आई फिल्म अप्पु से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी। वो 29 से ज्यादा फिल्मों में अभिनय कर चुके थे

पिता का हुआ था अपहरण
पुनीत दक्षिण भारतीय फिल्मों का एक मशहूर नाम थे। पुनीत के पिता राजकुमार इंडस्ट्री के बड़े नाम थे। उन्हें कन्नड़ सिनेमा का आइकन माना जाता था। वो पहले ऐसे कन्नड़ इंडस्ट्री के अभिनेता थे जिन्हें दादा साहब फाल्के अवॉर्ड मिला था। चंदन तस्कर वीरप्पन ने उनके पिता राजकुमार का साल 2000 में अपहरण कर लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here