जिला बलरामपुर के उतरौला में बुधवार की रात को भरत-शत्रुघ्न लोगों के कंधों से गुजरते हुए अयोध्या के द्वार पर श्रीराम से मिले तो पूरा क्षेत्र राजा रामचंद्र की जय से गुंजायमान हो उठा। शोभायात्रा में देर रात तक झांकियां निकलती रहीं।
चारों भाइयों का मिलन तथा माता जानकी के चरणों में भरत जी का शीश झुकाना श्रद्धालुओं को इतना भाया कि बार-बार राजा रामचंद्र की जय से पूरा वातावरण गुंजायमान होता रहा। मिलन के साथ ही रामजी की आरती उतारकर उनका अयोध्या आगमन पर स्वागत किया। जिसने राम के आने की खबर सुनी, वही प्रसन्न होकर अयोध्या के प्रवेश द्वार की ओर दौड़ पड़ा। दूसरी ओर, भरत जी को राम के आने की खबर देकर हनुमान वापस श्रीराम के पास चले आते हैं।
श्री दुखहरण नाथ मंदिर से भगवान श्री राम की सवारी रात 8 बजे निकाली गयी जो क़ि घोसियाना मोहल्ला आर्य नगर, पटेल नगर , सुभाष नगर होते हुए बड़ी मस्जिद के पास बने हुए भरत मिलाप मंच पर पहुचा।

रास्ते में स्थान-स्थान पर पुष्प वर्षा हुई तथा आरती उतारी गई। नगर को दुल्हन की तरह सजाया गया, रोशनी की गई और तोरण द्वारा बनाए गए।रात्रि में श्रीराम की सवारी जब बड़ी मस्जिद के पास पहुंची तो श्रद्धालुओं की अपार भीड़ से वातावरण राममय हो चुका था। श्रीराम के पास भरत-शत्रुघ्न के जाने के लिए श्रद्धालुओं ने अपने कंधों से मानव सड़क का निर्माण कर दिया। हर किसी की एक ही सोच थी कि अगर आज भरत जी उनके कंधों से गुजरकर और उनके शरीर से छू भर गए तो उनका जीवन धन्य हो जाएगा। इस उतरौला अलौकिक भरत मिलाप रात्रि में संपन्न हो गया । इस अवसर पर कमेटी के स्थानाधिपति महंत मयंक गिरि, संरक्षक फरिन्द्र गुप्ता,रवि गुप्ता,अमित गुप्ता ( विक्की ), गुड्डू कसौधन,संजय गुप्ता,श्यामजी कौशल,पण्डित हरि ओम झा,अनिल गुप्ता ,रोहित गुप्ता ,दीपक चौधरी आदि नगरवासी मौजूद रहे।सुरक्षा एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने क्षेत्राधिकारी मनोज कुमार यादव,प्रभारी निरीक्षक डॉ. उपेंद्र राय पुलिस बल के साथ मौजूद रहे ।

आज का अपराध न्यूज़
रिपोर्ट-संतोष गुप्ता
ज़िला-बलरामपुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here