डॉ० संजय कुमार निषाद/राष्ट्रीय अध्यक्ष निषाद पार्टी


ज़िला गोरखपुर/निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने गोरखपुर के एक स्थानीय होटल में प्रेसवार्ता के माध्यम से कहा कि कभी पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी जी ने कहा था कि सरकार द्वारा किसी भी सरकार को चलाने के लिए पॉलिटिकल पार्टनरसिप की जरुरत होती है।निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल(निषाद पार्टी) भी यही चाहती है कि वोटर पॉलिटिकल पार्टनर बन बजट का हिस्सेदार बनें।
देश का असली भगवान वोटर होता है।वोटर पॉलिटिकल पार्टनर बनेगा तभी देश की गरीबी खत्म होगी।निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. संजय निषाद का कहना है कि आज थाने पर 10 दरोगा हैं तो 4 सपाई हैं , 3 बसपाई हैं, बाकी जिसकी सरकार रहती है उसके हैं। यही हाल सभी अन्य विभागों में भी है। देश को आजाद कराने वाले मछुआ समुदाय, निषाद एवं अति पिछड़ी जातियों के लोग कहां है? उनकी भागीदारी का वक्त आ गया है, चाहे सत्ता हो, शिक्षा हो या रोजगार हो।जैसे सभी पार्टियां अपना संकल्प लेती हैं , हमारी पार्टी का भी 13 जनवरी 2013 से प्रत्येक वर्ष संकल्प लिया जाता है, इस बार 13 जनवरी को गोरखपुर में है, जहां देश के प्रदेश के प्रत्येक जिले के हर विधानसभाओं से लाखों लोग आरक्षण और सत्ता में भागीदारी का संकल्प लेने गोरखपुर आ रहे हैं।समाज के लोग पूछते हैं कि लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा ने आपसे कई वायदे किए थे अब आप उनके सहयोगी भी है तो ऐसे में कोई वायदा पूरा हुआ या नहीं।हमें कहना पड़ता है कि वायदे उन्होने किए है तो अभी तक पूरे क्यों नहीं किए ये भाजपा जानें। भाजपा हमारे मित्र और बड़े भाई हैं। मैने या मेरी पार्टी के किसी भी नेता ने पद के लालच में गठबंधन नहीं किया था। हमने मछुआ समाज के आरक्षण और विकास के लिए गठबंधन किया है।मछुआ समाज के साथ सबने अन्याय किया, चाहे बसपा हो, सपा हो सबने वोट लेकर छलने का काम किया। सपा कभी एस.सी से बाहर कर पिछड़ी सूची में डाल देती है तो बसपा स्टे लगा देती है।उत्तराखंड सरकार में शिल्पकार को जातियों का समूह मानकर सभी पर्यायवाची एवं उपजातियों को अनुसूचित जातियों का आरक्षण दिया गया, इसी आधार पर हमें भी मंझवार, गोडम , तुरैहा आदि को जातियों का समूह मानकर उत्तराखंड सरकार के शासनादेश के आधार पर केवट, मल्लाह, कश्यप कंहार आदि को अनुसूचित जाति के आरक्षण का प्रमाण पत्र दिया जाय। हम भाजपा के मित्र हैं इसलिए उन्हें आगाह करेंगे कि हमारा वादा पूरा करें।हमारे कार्यकर्ता भाजपा को भी घेरते नजर आते हैं। घर में दो बर्तन होते है तो खटकते है पर टूटते नहीं है तो हमारे समुदाय की मांगों को लेकर कभी कभी बड़े भाई भाजपा को घेरना पड़ता है, हमारी भाजपा से बस इतनी मांग है कि जो वादा किया था समाज के कल्याण के लिए यथाशीघ्र अनुसूचित जाति के आरक्षण का प्रमाण पत्र जारी हो। इसमें जो भी बाधाएं उसे दुर करना सरकार की जिम्मेदारी है।हम सड़क से लेकर संसद तक आवाज उठा रहे हैं। है। क्योंकि भाजपा इस मुद्दे को हल करने की पूरी ताकत रखती है।आरक्षण के मुद्दे पर हम भाजपा के साथ आए हैं। योगी जी ने सदन में मछुआरों की आवाज उठाई थी, योगी जी ने खुद वादा किया था कि अनुसूचित जाति आरक्षण के मुद्दे सही हैं और यह हल होने चाहिए, तो आज केन्द्र और राज्य में भाजपा की सरकार है, तो उस वादे को यथाशीघ्र निभाएं।आने वाले चुनावों में हमारा आरक्षण मुद्दा पहले भी वही था और आज भी वही है समाज के कल्याण का हक आरक्षण मिले, समाज के लोगों पर लगे राजनैतिक केस वापसी हों। हमारा मुद्दा निर्बल शोषितों को न्याय दिलाना है।बाकी मेरी अपील है समाज के सभी वर्गों से की वो हमारी मांगों को लेकर हमारा समर्थन करें और हमारे हक की लड़ाई में अपनी भागीदारी दें।

आज का अपराध न्यूज़
विशेष रिपोर्ट/गोविंद कुशवाहा,गोरखपुर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here