उन्नाव/श्रमिकों लेकर जा रही स्पेशल ट्रेन के यात्रियों ने ट्रेन की लेटलतिफी, ट्रेन में सवार यात्रियों महिलाओं बच्चों की भूख और पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं न मिलने के चलते उन्नाव स्टेशन पर किया हंगामा। आरपीएफ और अन्य स्टाफ के समक्षाने के बाद हुयें शांत।प्रवासी श्रमिकों के साथ बद इंतजामी के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं चाहे वह उनके घरों को भेजने में लापरवाही का मामला रहा हो या फिर खाने का लापरवाही ।
अवस्थाएं लगातार प्रवासी लोगों के साथ बढ़ती जा रही है।
ताजा मामला उन्नाव रेलवे स्टेशन पर हुआ जहां बेंगलुरु से दरभंगा जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन जैसे ही उन्नाव रेलवे स्टेशन पर रूकती है, ट्रेन में मौजूद प्रवासी पानी के लिए इधर-उधर भागते हैं। मई की तपती धूप में 44 डिग्री टेंपरेचर पर पानी ही प्रवासी गरीब मजदूरों का सहारा होता है

लेकिन रेलवे स्टेशन पर पानी की एक बूंद न थी ।इसे रेलवे सिस्टम का फ्लोर कहें या प्रवासी मजदूरों की किस्मत। प्रवासी मजदूर भड़क उठते हैं और रेलवे स्टेशन पर पत्थरबाजी शुरू कर देते हैं। मौके को हालात को देखते हुए जिला अधिकारी एसपी तुरंत रेलवे स्टेशन पहुंचते हैं उससे पहले ही ट्रेन स्टेशन छोड़ देती है और पीछे छूट जाता है उन्नाव रेलवे स्टेशन की घटिया व्यवस्था और टूटे दरवाजे खिड़कियां कांच।
सारी वारदात हो जाने के बाद पहुंचे जिलाधिकारी स्टेशन के कर्मचारी अधिकारियों को फटकार लगाते हैं इसके बाद जिलाधिकारी बस स्टॉफ जाकर भी पानी की व्यवस्था देखते हैं।

रिपोर्ट विजयबहादुर सिहं बांगरमऊ उन्नाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here