उतरौला,बलरामपुर।मोहम्मद उस्मानी इण्टर कॉलेज के पूर्व प्रधानाचार्य मुजीबुल हसन खान के पुत्र अबुल सालिम खान ने पीएचडी की उपाधि प्राप्त की।
अबुल सालिम खान ने अपनी प्राथमिक शिक्षा राजकीय आदर्श विद्यालय उतरौला, हाई स्कूल और इंटरमीडिएट की शिक्षा एमवाई उस्मानी इण्टर कॉलेज उतरौला, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से भौतिकी में बीएससी आनर्स और सोशल वर्क में मास्टर्ड डिग्री प्राप्त की है।यूजीसी से जेआरएफ/नेट की परीक्षा उत्तीर्ण की।इन्होंने
मौलाना आज़ाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी, हैदराबाद से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। इनके पीएचडी का विषय मैटरनल एंड चाइल्ड हेल्थ प्रैक्टिसेज अमंग मुस्लिम्स इन द स्लम्स ऑफ हैदराबाद है। पीएचडी के दौरान दो महत्वपूर्ण जर्नल्स में इनके थेसिस के अलग-अलग पेपर का प्रकाशन हुआ, जिसमें एक इकोनॉमिक्स और पॉलिटिकल वीकली और दूसरा ऑस्ट्रेलियन जर्नल ऑफ ब्रेस्टफीडिंग है। अभी कई सारे महत्वपूर्ण जर्नल्स में प्रकाशन लम्बित है।
ये अपना एकेडेमिक जीवन सोशल वर्क के क्षेत्र में कार्य कर के बिताना चाहते हैं।
बातचीत के दौरान अबुल सालिम खान ने बताया कि वे अपने शोध कार्य को अपने अध्यापकों को समर्पित करना चाहते हैं। विशेष रूप से प्रोफेसर मोहम्मद शाहिद, प्रोफेसर हसन शाहिद रिज़वी, हिदायतुल्लाह खान, ज़ाहिद अहमद सिद्दीक़ी और इन्द्र बहादुर सिंह को श्रेय दिया।उनकी इस उपलब्धि पर एमवाई इण्टर कालेज के प्रधानाचार्य अबुल हाशिम खान,शिक्षक अबुल कासिम, उबैदुर्रहमान, मोहिउद्दीन, वीएन सिंह ,पंकज पाण्डेय,अजय चौधरी,अब्बास खान,भारतीय विद्यालय के प्रधानाचार्य के०के०सरोज,शिक्षक अभिषेक वर्मा सहित अन्य शिक्षकों एवं क्षेत्रवासियों ने बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

ब्यूरो संतोष गुप्ता जिला बलरामपुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here