लखीमपुर खीरी= आजकल बहुत तेजी से खबरे आ रही है कि चीन में क्रोना वायरस आ गया है जिससे सैकड़ों लोगों की अबतक जान जा चुकी है और सैकड़ों हॉस्पिटल में जिंदगी और मौत से जंग लड़ रहे है। ये भी अनुमान लगाया जा रहा है कि भारत में भी बहुत जल्द ये वायरस प्रवेश कर जाएगा चूंकि भारत करीबी देश है तो शंका भी स्वाभाविक है।
भारत की बात करे, यू पी की बात करे, या लखीमपुर खीरी जिले की बात करे, जिला प्रशासन अलर्ट हो गया है जगह जगह मीटिंग करके लोगों को सुरक्षा के सारे गुर बताए जा रहे है, नेपाल बॉर्डर पर डाक्टरों की टीम तैनात कर दी गई है ताकि आने वालों की जांच की जा सके कि कहीं वो क्रोना वायरस तो कैरी नहीं कर रहे है। संतुष्ट होने के बाद ही प्रवेश की अनुमति दी जाती है। लेकिन क्रोना से कहीं ज्यादा खतरनाक पतंगबाजी के शौक में प्रयोग किया जाने वाला ग्लास कोटेड मांझा या चाईनीज मांझा है जो पेड़ों में फंस जाता है जिससे पक्षी घायल हो जाते है और मर भी जाते है इतना ही नहीं अक्सर इंसान भी फंस कर जान गंवा बैठते है। इस गंभीर विषय की तरफ अभी तक न तो शासन प्रशासन का ध्यान गया और न ही किसी व्यक्ति ने शासन प्रशासन से उक्त विषय में आवश्यक कार्यवाही की मांग की है। डॉ नज़र चेयरमेन फातिमा फाउंडेशन ने मकर संक्रांति के मौके पर पतंग के शौकीन लोगों से टी वी चैनल के माध्यम से ग्लास कोटेड मांझा या चाईनीज मांझा का प्रयोग न करने की अपील की थी। लेकिन लोगों ने उनकी अपील को नजर अंदाज कर दिया था। परिणाम ये हुआ कि स्वयं डॉ नजर अंसारी कल दिनांक 28/01/2020 को करीब शाम चार बजे लखीमपुर शहर में डी सी रोड महिला थाना के पास से गुजर रहे थे कि पतंग उड़ा रहे लोगों की पतंग के मांझा में डॉ अंसारी की गर्दन फंस कर काफी कट गई और लहू लुहन हो गई। जान तो बच गई लेकिन काफी गंभीर अवस्था में उन्हें घर लाया गया। डॉ अंसारी ने जिला अधिकारी को जनहित में पतंग विक्रेताओं पर उक्त प्रकार का मांझा बेचने पर रोक लगाने की कार्यवाही की अपील की है। अब देखना है कि जिला प्रशासन क्रोना कि भांति इस पर भी कितनी सक्रियता दिखाते है। डॉ अंसारी ने बताया कि मुझे इस घटना से ये जान पड़ता है कि जनहित में कार्यवाही कीअपील का काम लेने के लिए कुदरत ने मुझे चुना है ताकि मै जनहित के काम आ सकूं , ये घटना जनहित में पहेल करने की तरफ इशारा है। डॉ अंसारी ने पतंग बाज़ी के शौकीन लोगों से पुनः अपील की है कि पतंग का आनंद उठाएं पर पतंगों में ग्लास कोटेड मांझा या चाईनीज मांझा का प्रयोग ना करे ताकि पशु पक्षी व जनमानस सुरक्षित रहे।

युसुफ अंसारी संवादद
आज़ का अपराध न्यूज
लखीमपुर खीरी यूपी
7860251114

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here