ज़िला बस्ती/बस्ती के वाल्टरगंज सुगर मिल के कर्मचारी अपने हक को लिये आज मिल की चिमनी पर चढकर विरोध प्रदर्शन करने लगे, कई घंटे तक जिला प्रशासन और पुलिस के लोग कर्मचारियो के नीचे उतरने का निवेदन करते रहे मगर वे फिल्हाल अभी तक माने नही है, दरअसल वाल्टरगंज सुगर मिल के सैकडो कर्मचारियो का पिछले 6 महिने का करोडो का भुगतान बकाया है जिसे मिल प्रबंधन देने को तैयार नही हो रहा, मिल के अधिकारियो की तरफ से कर्मचारियो की सैलरी देने मे हीलाहवाली की जा रही जिससे नाराज होकर मिल कर्मी पिछले 24 दिन से मिल के गेट पर ही अनवरत धरना दे रहे थे, इस पर भी जब मिल प्रबंधन और जिला प्रशासन कोई सुनवाई नही किया तो मजबूरी मे आज दो कर्मचारी और दो किसान अपने बकाया भुगतान की मांग को लेकर मिल की चिमनी पर चढ गये, इस बात की जानकारी जैसे ही अन्य लोगो को लगी तो वे मौके पर पहुंचे और उपर चढे कर्मचारियो को वापस नीचे उतरने के कहा, चिमनी पर चढे कर्मी हाथ मे पैट्रोल लेकर चढे थे और आत्मदाह की बार बार धमकी दे रहे थे, 5 घंटे की काफी मशक्कत के बाद जिला प्रशासन के लिखित आश्वासन के बाद कर्मचारी नीचे उतरे, डीएम राजशेखर की तरफ से मिल कर्मी और किसानो को आश्वस्त किया गया है कि सोमवार को मिल प्रबंधन के साथ बैठक कर सभी मांगो को हल किया जायेगा, गौरतलब है कि वाल्टरगंज सुगर मिल को फेनिल ग्रुप प्रबंधन बंद करने के फिराक मे है जब कि सरकार लगातार प्रयास कर रही है कि मिल किसी भी दशा मे बंद न हो, बावजूद 5 महिने से वाल्टरगंज सुगर मिल के गेट पर ताला बंद है और मिल के अंदर किसी प्रकार का कोई काम नही हो रहा, इसलिये मिल मे काम करने वाले सैकडो कर्मचारी अपने भविष्य को लेकर परेशान है कि अब उनका और उनके परिवार का क्या होगा।

रजनीश कुमार पाण्डेय
आज का अपराध, ब्यूरो चीफ
बस्ती यूपी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here