लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश का एकमात्र राष्ट्रीय उद्यान 15 नवंबर दिन बृहस्पतिवार को 10:00 बजे पर्यटकों के लिए विगत वर्षों की भांति एक बार पुनः खोल दिये गये।जिसमें पर्यटक दुधवा टाइगर रिजर्व के प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद ले सकेंगे। पर्यटन सत्र का के0के0 सिंह जीएम वन निगम, मनोज कुमार सोनकर उपनिदेशक दुधवा टाइगर रिजर्व प्रभाग पलिया खीरी, डॉक्टर अनिल कुमार पटेल उपनिदेशक बफर जोन दुधवा टाइगर रिजर्व प्रभाग लखीमपुर खीरी एवं समीर वर्मा प्रभागीय वन अधिकारी दक्षिण खीरी वन प्रभाग लखीमपुर खीरी द्वारा पूरे प्रदेश से पधारे मीडिया बंधु, दुधवा टाइगर रिजर्व की विभिन्न रेंजो से उपस्थित रहे अधिकारी एवं कर्मचारी गण के साथ पर्यटकों हेतु पर्यटन के द्वार पूर्ण श्रद्धा भाव के साथ पूजन अर्चन कर फीता काटकर शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर पर्यटकों को दीदार कराने हेतु सबकी लाडली दुर्गा हाथी का बच्चा को सजाकर द्वार के पास लाया गया, जहां उसने अतिथियों, पर्यटकों का अभिवादन कर स्वागत किया। आज पर्यटकों हेतु नेचर कंजर्वेशन एंड इको फाउंडेशन के सचिव लीलाधर उर्फ सोनू एवं उनकी टीम गाइड, चालकों द्वारा दुधवा टाइगर रिजर्व के पशु पक्षियों के फोटो की प्रदर्शनी भी लगाई गई जो मुख्य आकर्षण का केंद्र रहा। इससे पूर्व पर्यटन में साफ-सफाई एवं साज-सज्जा का कार्य क्षेत्रीय वन अधिकारी पर्यटन लल्लन स्वरूप व वन निगम द्वारा कराया गया। पर्यटन का शुभारंभ करने से पूर्व पर्यटन के मुख्य द्वार एवं प्रवेश इंट्री पर दून इंटरनेशनल स्कूल एवं टाइगर डेन सोसाइटी पलिया के छात्र एवं छात्राओं द्वारा रंगोली बनाकर साज-सज्जा का कार्य पूर्ण किया गया। कार्यक्रम के पूरी प्रबंधन का कार्य वन्य जीव प्रतिपालक दुधवा एवं बिलरायां शशिकांत अमरेश द्वारा किया गया। नए पर्यटन सत्र की विशेषताओं के बारे में मुख्य अतिथि केके सिंह जीएम वन निगम एवं उप निदेशक दुधवा टाइगर रिजर्व प्रभाग पलिया खीरी द्वारा बताया गया। इस अवसर पर क्षेत्रीय वन अधिकारी दुधवा सोबरन लाल, उत्तर सुनारीपुर प्रदीप कुमार वर्मा उपस्थित रहे। आज दुधवा पर्यटन के शुभारंभ के साथ-साथ पर्यटन का अभिन्न अंग किशनपुर वन्यजीव बिहार के द्वार पर्यटकों हेतु खोल दिए गए, जिसकी साज सज्जा एवं आगंतुकों का स्वागत स्वयं क्षेत्रीय वन अधिकारी किशनपुर रामबरन यादव वन्यजीव प्रतिपालक तौफीक अहमद व उनके स्टाफ द्वारा किया गया।

आज का अपराध न्यूज़
रिपोर्ट नूरुद्दीन गौरी
लखीमपुर खीरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here