लखीमपुर खीरी/मोहम्मदी खीरी-उपजिलाअधिकारी कार्यालय से तहसील क्षेत्र के ईट भट्ठा मालिकों को नोटिस जारी कर उनसे भट्टे पर एकत्र मिट्टी के संबंध में जानकारी मांगी गई नोटिस जारी होते ही ईट भट्ठा संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है।
विदित हो कि तहसील क्षेत्र के तमाम ईट भट्ठा संचालक अवैध खनन में सन लिप्त हैं। सभी भट्टों पर ऊंचे ऊंचे मिट्टी के ढेर देखे जा सकते हैं।उपजिलाअधिकारी कार्यालय से सभी ईट भट्ठा संचालकों को नोटिस जारी कर उनसे पूछा गया है।कि उन्होंने कितने भूखंड पर कितने घन मीटर मिट्टी खनन किस साधन द्वारा कराया है।तथा खनन संबंधी अनुमति पत्र भी मांगा गया है। जिन कृषकों की मिट्टी भट्ठा संचालकों द्वारा कराए की गई है। उनके सहमति पत्र,भट्टे पर कितने घन मीटर मिट्टी स्टोर की है।स्टोर की गई मिट्टी के खनन प्रपत्र और भूखंड का विवरण,भट्ठा संचालन हेतु प्रदूषण नियंत्रण संबंधी प्रपत्र, गांव सभा सरकारी भूमि पर अवैध खनन न करने संबंधी प्रमाण पत्र,नोटिस में उक्त पांचों बिंदुओं पर 7 दिन के अंदर जवाब मांगा गया है।नोटिस में यह भी कहा गया है।कि 7 दिन में अनुपालन आख्या न देने पर भट्ठा मालिकों के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी उपजिलाअधिकारी द्वारा जारी इस नोटिस पर भट्ठा मालिकों सहित तमाम अवैध खनन कर्ताओं में हड़कंप मचा हुआ है।विदित हो कि क्षेत्र में संचालित भट्टों पर मिट्टी के बड़े-बड़े ढेर लगे देखे जा सकते हैं। या मिट्टी किसानों से ना खरीद कर अवैध खनन कर लाई गई मिट्टी होती है।जिससे सरकारी राजस्व को लाखों रुपए का चूना लगाया जा रहा है।अब देखना यह है। कि उपजिलाधिकारी द्वारा जारी इस नोटिस के बाद कोई कार्रवाई होती है या पूरा प्रकरण मैनेज कर इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है। एसडीएम बीडी बर्मा से जानकारी चाही तो बताया भट्टा मालिकों को मेरे द्वारा नोटिस जारी किया गया है।अगर परमिट न दिखाया गया तो कार्रवाई अवश्य होगी।

आज का अपराध न्यूज़
शादाब खान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here