उत्तर प्रदेश के जनपद फिरोजाबाद बेशक नगर निगम द्वारा स्वच्छता अभियान को लेकर भरसक प्रयास किये जा रहे हैं लेकिन जिस रह से शहर में कई एक स्थानों पर गंदगी व जलभराव आदि की समस्या है ऐसे में कैसे स्वच्छ हो पायेगी सुहागनगरी? बताते चलें कि नगर निगम के वार्ड नंबर 36 नगला पचिया में पानी के जलभराव की समस्या को लेकर पिछले लगभग एक साल से लोग परेशान हैं, यहां तक कि पार्षद द्वारा भी कोई सुनवाई नहीं की गयी, इतना ही नहीं कुछेक तो मजबूरन अपने बच्चों की पढाई आदि की खातिर यहां स्थित खुद के मकान छोड़
किराये पर रहने को मजबूर हो गये हैं। इस संबंध में यहां के लोगों ने मीडिया से अपना दर्द बयां किया यहां के निवासी धीरेंद्र कमार ने बताया कि एक साल से अपना मकान छोड़ किराये पर रह रहे हैं, छोटे छोटे बच्चे स्कूल जाते समय पानी से होकर जाते थे तो बीमार पड़ जाते थे मजबूरन यहां से किराये पर अपना मकान छोड़ अन्यत्र रहना पड़ा, कोई सुनवाई नहीं हो रही नागरिक मनीष के अलावा क्षेत्रीय महिला ऊषा ने कहा हम यहां पानी में ही रहते हैं बहुत परेशानी है। मीरा देवी ने बताया कि जलभराव की समस्या है अपना मकान छोड़ किराये पर रह रहे हैं यहां की गलियां बननी चाहिये, छोटे छोटे बच्चों को कहां ले जायें। चूड़ी का काम है काम भी बंद है यहां के क्षेत्रीय पार्षद सतीश राठौर का कहना है कि इस बारे में कई बार निगम अधिकारियों को यहां की गलियां बनवाने को लिख कर दे चुके हैं पर बजट का अभाव बताकर हर बार इन गलियों को नजरअंदाज कर दिया जाता है, कहा उनके जीतने से पहले ही समस्या चली आ रही है, ज्यादातर लोग इस गली के किराये पर रह रहे हैं अपने मकान छोड़कर, मकान भी चटक गये हैं हो सकता है वह भी गिर जायें। ऐसे में देखा जाये तो कैसे सफल हो पायेगा नगर निगम का स्वच्छता अभियान, जबकि यहां जलभराव के कारण लोग अपने ही मकान छोड़ किराये पर रहने को मजबूर हो गये है।

रिपोर्टर सतीश चंद्र राठौर
आज का अपराध न्यूज़
जिला क्राइम फिरोजाबाद
90 12065 619

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here