विगत शुक्रवार को जनपद एटा की पुलिस अधिवक्ता राजेंद्र शर्मा के घर के मेन गेट का दरवाजा तोड़ दिया और घर के अंदर से अधिवक्ता को बाहर खींच कर उनकी जमकर पिटाई की। बाद मे पुलिस ने वकील को किसी फर्जी मुकदमे में परिवार सहित जेल भेज दिया। इससे नाराज स्थानीय तहसील बार एसोसिएशन अध्यक्ष रामभरोसे वर्मा के नेतृत्व में वकीलों ने कार्य बहिष्कार किया और रजिस्ट्रार कार्यालय मे रजिस्ट्री कराने आए लोगों को भी भगा दिया। जिससे रजिस्ट्रार कार्यालय में सन्नाटा पसरा रहा। इसके बाद लगभग आधा सैकड़ा अधिवक्ताओं ने तहसील परिसर में पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।अधिवक्ताओं ने मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन उप जिलाधिकारी की गैरमौजूदगी में तहसीलदार रश्मि सिंह को सौंपा। ज्ञापन में निरंकुश पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही किए जाने और अधिवक्ता की तुरंत रिहाई की मांग उठाई गई है। अधिवक्ताओं के कार्य बहिष्कार के चलते वादकारियो मे अफरा तफरी का माहौल बना रहा। ज्ञापन सौंपते समय सुभाष चंद्र शुक्ला, अजीत कुमार द्विवेदी, विष्णु कांत मिश्र, छोटेलाल, महमूद अहमद ,मुजम्मिल, मनीष मिश्रा तथा प्रभास मिश्र मनोज सिहं सहित सभी अधिवक्ता मौजूद रहे।

रिपोट बिजयबहादुर सिंह उन्नाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here