मिल्खा सिंह व उसेन बोल्ट जैसा तेज धावक बनने का सपना सँजोये ग्रामीण बच्चो ने क्या दौड़ लगाई।

मानो सच मे दुर्गेश पाल व शेखर शाक्य के रूप गाँव में मिल्खा सिंह व उसेन बोल्ट ही दौड़ रहे हों।

दुबहा निघासन लखीमपुर खीरी/जी हाँ ग्राम दुबहा में आयोजित दौड़ प्रतियोगिता में बच्चों नेबढ़चढ़ कर भाग लिया।प्रतियोगिता में जहाँ 1200 मीटर की दौड़ किशोर वर्ग के लिये थी वहीं 600 मीटर की दौड़ बालक वर्ग के लिये थी।1200 मीटर की दौड़ में दुर्गेशपाल ,अनुराग रामतीरथ,हरिओम, डालचंद ,उमेश आदि धावकों ने भाग लिया।धावक दुर्गेश पाल ,डालचंद व रामतीरथ में कांटे की टक्कर रही।सभी धावक रेस चैंपियन बनने के लिये जी जान से दौड़ रहे थे ।कभी कोई धावक आगे तो कभी कोई। आखिरी 200 मीटर में क्या शानदार बढ़त बनाई दुर्गेश पाल ने ।बिल्कुल हवा की तरह दौड़े।1200 मीटर दौड़ 5 मिनट में पूरी कर नम्बरवन आये और दुबहा 1200 मीटर रेस चैंपियनशिप जीत ली ।दर्शको ने दुर्गेश पाल को

दुबहा के मिल्खा सिंह नाम से शानदार उपाधि से सम्मानित किया ।दूसरे नम्बर पर डालचंद रहे व तीसरे नम्बर पर रामतीरथ रहे। वहीं बालक वर्ग की 600 मीटर दौड़ा में शेखर,सत्यम शिवा ,सचिन, विपिन, अंकित, नरेश पाल ,कमल आदि छोटे धावकों ने भाग लिया। बालकों ने क्या दौड़ लगाई बिल्कुल प्रशिक्षित धावकों की तरह ।अपनी दौड़ से सबका मनमोह लिया।शेखर, कमल व नरेश पाल ने सबको पछाड़ते हुए क्रमशः पहला ,दूसरा व तीसरा स्थान प्राप्त किया। 600 मीटर रेस चैंपियन बने शेखर को उनकी फर्राटेदार दौड़ के लिये दर्शकों ने छोटा उसेन बोल्ट की उपाधि से सम्मानित किया। सभी धावकों ने बड़े होकर अपने देश के लिये दौड़ने का सपना संजोया है।अपनी दौड़ से देश का मान सम्मान बढ़ाने का जज्बा पाला है और चैंपियन बनकर तिरंगे को आसमा में फहराने की तीव्र उत्कंठा की है।

आज का अपराध न्यूज़
रिपोर्ट शादाब खान
लखीमपुर खीरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here