उन्नाव/रावत ने बाबासाहेब को याद करते हुए कहा कि उनके विचार और आदर्श लाखों लोगों को ताकत देते हैं। बाबासाहेब ने राष्ट्र के लिए जो सपने देखे थे हम उन सपनों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उनके विचार हम सभी को प्रेरित करते रहेंगे।
बाबा साहेब ने एक भविष्योन्मुखी व सर्वसमावेशी संविधान देकर देश मे प्रगति, समृद्धि और समानता का मार्ग प्रशस्त किया है।
राष्ट्र निर्माण में आपके अभूतपूर्व योगदान के लिए यह देश सदैव ऋणी रहेगा। डॉ. अंबेडकर ने सामाजिक छुआ-छूत और जातिवाद के खात्‍मे के लिए काफी आंदोलन किए. उन्‍होंने अपना पूरा जीवन गरीबों, दलितों और समाज के पिछड़े वर्गों के उत्‍थान के लिए न्‍योछावर कर दिया. भीमराव अंबेडकर ने खुद भी उस छुआछूत, भेदभाव और जातिवाद का सामना किया है, जिसने भारतीय समाज को खोखला बना दिया था।इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष आदित्य त्रिपाठी ,सुरेश तिवारी जय सिंह, विनोद त्रिपाठी ,योगेश वर्मा,रमेश चंद्र भारतीय, भोला साह, योगेश रावत ज्ञानू, रामप्रकाश गोंड, सुरेश गौतम,मनीष रावत, मंजू, सहित अनूसूचित वर्ग के सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

रिपोट बिजय बहादुर सिहं उन्नाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here