ज़िला गोरखपुर/गोरखपुर में पकड़े गए शातिर गड्डीबाज संगठित होकर एक गिरोह चलाते थे जिस का संचालन रवि डोम करता था यह लोग रेलवे स्टेशन बस स्टेशन आदि जगहों पर संगठित होकर धटनाओं को अंजाम देते थे और लोगों को गड्डी बाजी के जाल में फंसा कर उनके रुपए पैसे सहित अन्य जरूरी सामान लेकर चंपत हो जाते थे।लेकिन कोई इनके मंसूबो को जान कर भागने की कोशिश करता तो यह सुनसान जगह पर ले जाकर उसके साथ लूटपाट भी करते थे।गिरफ्तार अपराधियो के ऊपर पहले से भी कोतवाली और कैंट थाने में मुकदमा पंजीकृत है पुलिस ने इनके पास से एक तमंचा, एक कारतूस 12 बोर और टैम्पू बरामद किया।

बाइट-क्षेत्राधिकारी कैंट सुमित कुमार शुक्ला

बे समय से गड्डीबाजी और चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाले शातिर गड्डीबाज/चोर गैंग का पुलिस ने पर्दाफाश करते हुए चार अंतर्जनपदीय शातिर गड्डीबाजो को गिरफ्तार किया पकड़े गए आरोपी रेलवे स्टेशन बस स्टेशन सहित अन्य भीड़भाड़ वाले स्थानों पर सक्रिय होकर अपने कार्यों का संचालन करते थे जिसके लिए यह लोगो एक टेंपो का भी इस्तेमाल करते थे।इनके द्वारा पहले एक सदस्य सहयात्री बनकर यात्री से पूछताछ कर उसके साथ उसी के गांव के आसपास का यात्री बन कर उसके साथ चल देता था फिर बारी बारी से गैंग के अन्य सदस्य यात्री को कवर करते थे और मूर्ख बनाकर पहले

पैसा और उसके समानो को लेने का प्रयास करते थे यदि यात्री समझदार निकला तो यह लोग सुनसान जगह पर ले जाकर उसे तमंचा या चाकू दिखाकर उसके साथ लूटपाट भी करते थे पकड़े गए आरोपी पहले भी कई घटनाओं को भी अंजाम दे चुके हैं।और इनका पहले से ही अपराधिक इतिहास है पुलिस ने गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से एक तमंचा एक कारतूस 12 बोर सहित एक ऑटो बरामद किया जिसके माध्यम से यह घटनाओं को अंजाम देते थे गिरफ्तार करने वाली टीम में कैंट थाना प्रभारी रवि कुमार राय और उनकी टीम की मुख्य भूमिका रही कैंट थाना परिसर में प्रेस वार्ता के दौरान क्षेत्राधिकारी कैंट सुमित कुमार शुक्ला ने घटना के संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि लंबे अरसे से यह अंतर्जनपदीय गैंग गोरखपुर में सक्रिय था जिस को गिरफ्तार करते हुए जेल भेज दिया गया।

रिपोर्ट-गोविन्द कुशवाहा गोरखपुर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here