पीलीभीत शासन से नामित जिले के नोडल अधिकारी मा0 अपर मुख्य सचिव श्रम एवं सेवायोजन विभाग उत्तर प्रदेश शासन श्री सुरेश चंद्रा जी द्वारा आज मण्डी परिसर पीलीभीत व पूरनपुर में स्थित धान क्रय केन्द्रों, फत्तेहपुर गौ आश्रय स्थल व गढ़वाखेड़ा गन्ना सेंटर का औचक निरीक्षण किया गया। धान क्रय केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा किसानों से बातचीत की गई। किसानों द्वारा 50 कु0 की निर्धारित सीमा की समस्या के सम्बन्ध में अवगत कराने पर तत्काल आयुक्त खाद्य से बात कर उपरोक्त सीमा को तत्काल हटवाने के निर्देश दिये गये। निरीक्षण के दौरान पूरनपुर एफसीआई के केन्द्र प्रभारी द्वारा बिना तौल के केन्द्र बन्द करने की शिकायत का संज्ञान लेते हुये केन्द्र प्रभारी के विरूद्व कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये। निरीक्षण के दौरान भुगतान के सम्बन्ध में समस्त केन्द्र प्रभारियों को निर्देशित किया गया कि किसानों का भुगतान समय पर किया जाये। वार्ता के दौरान किसानों द्वारा यूरिया के सम्बन्ध में अवगत कराने पर नोडल अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि प्रति एकड़ अतिरिक्त बैग व्यवस्था की बढ़ा दी गई। निरीक्षण के दौरान प्रतिदिन लक्ष्य के अनुरूप केन्द्रों पर की जा रही धान खरीद की जानकारी ली गई। इस दौरान डिप्टी एआरएमओ द्वारा अवगत कराया गया कि मण्डी पीलीभीत में 11 धान क्रय केन्द्र व मण्डी पूरनपुर में 06 क्रय केन्द्र संचालित है तथा जिले में कुल 95 क्रय केंद्र पर खरीद अभी की जा रही है और जिनके माध्यम से जिले के 58900 पंजीकृत किसानों से अब तक 29 लाख 57 हजार कुंतल धान की खरीद की गई। नोडल अधिकारी द्वारा क्रय केन्द्रों पर किसानों से वार्ता कर तौल के सम्बन्ध में जानकारी ली गई। नोडल अधिकारी द्वारा क्रेन्द्र प्रभारियों को निर्देशित किया गया कि क्रय केन्द्रों पर आने वाले किसानों की तौल नियमित की जाये तथा किसानों को किसी प्रकार की समस्या नही होनी चाहिए।
इसके साथ ही साथ नोडल अधिकारी द्वारा गढ़वाखेड़ा गन्ना सेंटर का निरीक्षण किया गया। नोडल अधिकारी द्वारा गन्ना सेंटर पर तौल की गन्ना पर्चियों की जांच की गई तथा कांटे पर बांट रखकर वजन का सत्यापन किया गया। इस दौरान किसानों से गन्ने की पूर्ति के सम्बन्ध में जानकारी ली गई। किसानों द्वारा अवगत कराया गया कि सम्बन्धित एलएच शुगर मिल द्वारा विगत वर्ष का पूर्ण भुगतान कर दिया गया है, इस वर्ष का भी भुगतान किया जा रहा है। इसके साथ ही साथ गन्ना सेंटर पर स्थापित कांटे की जांच की गई। नोडल अधिकारी द्वारा अपने सम्मुख ही एसएमएस से जारी गन्ना पर्चियों की तौल कराई गई। इसके उपरान्त नोडल अधिकारी द्वारा अस्थाई गौ आश्रय स्थल फत्तेहपुर का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा भूसा कक्ष में भूसे की उपलब्धता, हरे चारे की व्यवस्था, पानी की व्यवस्था, लाइट की व्यवस्था सहित अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया। इसके साथ उन्होंने गौ आश्रय स्थल में प्रतिदिन आने वाले नये गौवंशों की ईयर टैगिंग की जांच की गई। गौ आश्रय स्थल में समस्त व्यवस्थाऐं ठीकठाक पाई गई। उन्होंने पशु चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया कि गौवंशों के रख रखाव पर विशेष ध्यान दिया जाये तथा सम्बन्धित पशु चिकित्सक द्वारा नियमित गौशाला में पशु के स्वास्थ्य के जांच की जाये।
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्री श्रीनिवास अधिकारी, डिप्टी एआरएमओ, मण्डी सचिव, जिला गन्ना अधिकारी, परियोजना निदेशक अनिल कुमार, उप जिलाधिकारी पूरनपुर सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहें।रि. योगेश गुप्ता आज का अपराध व्यूरोचीफ जनपद पीलीभीत।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here