जिला बलरामपुर ।। जनपद में कानून व शांति व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के लिए अपने पूर्व अनुभवों के आधार पर नए नए प्रयोग नवागत पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा कर रहे हैं । उन्हीं नए प्रयोगों के क्रम में पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा के आदेशानुसार जनपद भर के सभी थानों पर नियमित रूप से घंटा ड्रिल का अभ्यास कराया जा रहा है। 
इस ड्रिल में घंटा बजने का मतलब अति शीघ्र समस्त पुलिसकर्मियों को दंगा नियंत्रण उपकरण के साथ पहुंचना होता है। समस्त क्षेत्राधिकारीगणों द्वारा भी अपने अपने सर्किल के थानों पर उपस्थित रहकर घंटा ड्रिल का अभ्यास कराया जा रहा है।
पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि थानों पर लगे घंटों की ध्वनि को विभिन्न अपात् स्थिति जैसे अग्निकांड, हत्या लूट डकैती, सड़क दुर्घटना या अन्य किसी घटना होने पर पुलिस के देरी से पहुंचने की शिकायत को देखते हुए यह अभ्यास कराया जा रहा है। इसके लिए सभी को प्रशिक्षित करने की जिम्मेदारी थानाध्यक्ष व थाना प्रभारियों की है तथा उच्चाधिकारियों द्वारा समय-समय पर इसका निरीक्षण भी किया जा रहा है।
 उन्होंने बताया कि सभी को स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि घंटा ड्रिल का अभ्यास नियमित रूप से कराया जाएगा जिससे पुलिस बल किसी भी विपरीत परिस्थिति का सामना कर सकें । इसके साथ साथ दंगों में होने वाले पथराव व आगजनी से बचने के उपाय पुलिस द्वारा छोड़े गए टियर गैस से बचाव करते हुए भीड़ को तितर बितर करना रबड़ के बुलेट दागना आदि के संबंध में भी विधिवत प्रशिक्षण दिया जा रहा है ।

संवाददाता संतोष गुप्ता
मो-8737099751
उतरौला (बलरामपुर)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here