उन्नाव
जहां एक ओर सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ भूमाफियाओं पर नकेल कसने के लिए एन्टी भूफिया टीम का गठन कर भूमाफियाओं पर नकेल कसने का प्रयास कर रही है वहीं उन्नाव जनपद के कोतवाली गंगा घाट क्षेत्र में भूमाफियाओं का आतंक इतना फैल गया कि भूमाफियाओं ने निषाद पार्टी के जिला अध्यक्ष की जमीन तक नहीं छोड़ी। आपको बता दें उन्नाव जनपद के कोतवाली गंगा घाट क्षेत्र के मजरापीपरखेड़ा गैर एहतमाली में निषाद पार्टी के जिला अध्यक्ष की जमीन है जिसपर काफी अरसे भूमाफियाओं की निगाहें लगी थी जिसको लेकर जिला अध्यक्ष जिले के आलाधिकारियों को प्रार्थना पत्र देकर जमीन की सुरक्षा की गुहार लगा रहे थे जिसको लेकर उन्नाव जनपद के सिटी मजिस्ट्रेट चन्दन पटेल ने दिनांक 12-12-20 को थाना दिवस में भूमाफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया था ये बात भूमाफियाओं को नागवार गुजरी और भूमाफिया दिनेश चन्द्र अग्निहोत्री व विमल गुप्ता राकेश कुमार व मनोज आदि अपने गुर्गों के साथ एकत्रित होकर निषाद पार्टी के जिला अध्यक्ष के फोन पर जिला अध्यक्ष सहित अधिकारियों को अभद्रता पूर्वक गाली देकर मौके पर पर आने की चेतावनी दे डाली जब भूमाफियाओं का इससे भी मन नहीं भरा तो रात में जिला अध्यक्ष की जमीन पर भरा दी भूमाफियाओं ने नींव। जिसकी आज थाना दिवस पर सिकायत करने पर मौके पर पुलिस बल के साथ पहुंचे तेजतर्रार उप जिला अधिकारी सदर ने प्रार्थी की भूमि को भूमाफियाओं के चंगुल से कराया मुक्त और मौके पर दबंगई कर रहे चार दबंगों को थाने में कराया बंद जबकि मुख्य आरोपी दिनेश चन्द्र अग्निहोत्री व विमल गुप्ता अभी भी पुलिस की गिरफ्त से कोशों दूर अब देखना यह होगा पुलिस अधिकारियों को अपने पैर की जूती समझने वाले भूमाफियाओं को कब करेगी गिरफ्तार या विकास दुबे की तरह प्राप्त है इन भूमाफियाओं को राजनीतिक संरक्षण। क्या सफेद पोस के आगे मजबूर होगी खाकी?

रिपोट बिजयबहादुर सिंह उन्नाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here