डिजिटल इंडिया के तहत मैनपुरी की पहली ग्राम पंचायत अंजनी ने डिजिटल विलेज का सपना साकार कर दिया है। गांव को बाईफाई लैस बना दिया गया है। इसके बाद गांव में रहने वाले युवाओं, किसानों, छात्रों और बेरोजगारी से जूझ रहे लोगों की समस्या दूर हो गई है। इन्हें देश विदेशों में हो रही गतिविधियों की आसानी से जानकारी गांव में ही रहकर मिल रही है तो वहीं युवा घर बैठ ऑनलाइन पढ़ाई भी कर रहे हैं। गांव में प्राथमिक विद्यायल में भी शिक्षिकाएं बच्चों को ऑनलाइन पड़ा रहीं है तो वहीं व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से होमवर्क भी भेजती हैं। घर बैठकर बच्चे उसे पूरा भी करते हैं। गांव के युवाओं का कहना है कि उन्हें गांव में रहकर फ्री में बाईफाई की सुविधा मिल रहा है, घर बैठकर पढ़ाई भी कर रहे हैं और जॉब निकलती हैं उसकी भी जानकारी मिल जाती है। हम लोग तैयारियां भी कर रहे हैं।
वर्जन ग्राम प्रधान- ग्राम प्रधान ओमेंद्र यादव ने बताया कि उन्होंने गांव के युवाओं की स्थित देखकर कि वह पढ़ने में रुचि रखते हैं पर पैसे के अभाव के चलते मोबाइल होने के बावजूद भी वह रिचार्ज नहीं करा सकते थे, साथ ही कोरोना काल के चलते सभी चीजें ऑनलाइन हो गईं थी, स्कूल नहीं खुले थे, चाहे कोचिंग हो चाहे स्कूल हो सभी पढ़ाई ऑनलाइन हो रहीं थी। उसी को देखते हुए ग्राम सभा को वाईफाई लेस कराया है

रिपोर्टर अमित कौशिक
आज का अपराध न्यूज़
मंडल प्रभारी आगरा
9359816032

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here