महराजगंज -जनपद के बृजमनगंज के सभी सपा कार्यकर्ताओं ने किसानों के समर्थन में किया धरना प्रदर्शन और एसडीएम को सौंपा ज्ञापन ।।

बताते चलें जनपद- महाराजगंज के नगर पंचायत बृजमनगंज स्थित स्टेशन रोड पर आज समाजवादी पार्टी के विधानसभा अध्यक्ष मदन गोपाल यादव के नेतृत्व में स्टेशन रोड पर क्षेत्र के किसानों के साथ बैठकर वर्तमान सरकार को किसानों का दुश्मन बताते हुए धरना प्रदर्शन किया दिल्ली बॉर्डर पर किसानों के समर्थन में चल रहे धरना प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने धरना कर फरेंदा एसडीएम राजेश जैसवाल को ज्ञापन सौंपा। बताते चलें कि धरने में सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण एवं किसान मौजूद रहे एवं बृजमनगंज पुलिस प्रशासन सहित सर्किल के 4 थानों की फोर्स फ्लैग मार्च कर किसी प्रकार की अप्रिय घटना ना घटे पूरी मुस्तैदी के साथ मौजूद रही।
कार्यक्रम का संचालन समाजवादी पार्टी के विधानसभा उपाध्यक्ष एवं समाजसेवी विनोद जैसवाल, ने किया। इस कार्यक्रम में जिले के वरिष्ठ सपा कार्यकर्ता अमित चौबे, राजेश यादव ,कैलाश यादव, सहित धानी के अखिलेश मौर्य ,सिद्धार्थनगर के विजय यादव ,राकेश यादव ,प्रधान प्रतिनिधि दिलीप चौधरी, व्यापार मंडल अध्यक्ष किशन जयसवाल, पूर्व प्रधान राजदेव यादव, प्रधान प्रतिनिधि सदर जीत लोधी ,सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।
मंच के माध्यम से सपा कार्यकर्ताओं ने कहा कि वर्तमान सरकार एम एस पी बिल लाकर किसानों की जमीन को अदानी अंबानी के हाथ में बेचना चाहती है । जिस प्रकार अंग्रेजों ने देश को गुलाम बनाकर रखा पुन: गुलामी की जंजीरों में किसानों को जकड़ना चाहती है ।जब किसान ही नहीं रहेगा तो देश के नौजवान व्यापारी का क्या होगा। उन्होंने कहा कि आज 72 दिन से अधिक होने के बावजूद दिल्ली बॉर्डर पर किसान मांग को लेकर डटे हुए हैं। परंतु उनकी मांगे वर्तमान सरकार नहीं सुन रही है ।किसानों की मौत पर उसे आतंकवादी कहा जा रहा है ।जब भी समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता कहीं भी अपना मंच लगा रहे हैं ।तो उन्हें जेल में डाल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा हम लोग शांतिपूर्ण तरीके से धरना प्रदर्शन करने बैठे हैं। जहां पर
फरेंदा एसडीएम राजेश जायसवाल, सीओ अशोक मिश्र, सहित थानाध्यक्ष कमलेश प्रताप सिंह, यस आई उमाकांत सरोज ,यस, आई आशुतोष राय, सहित पुलिस फोर्स मौजूद रही आइए दिखाते हैं धरने का एक दृश्य।

आज का अपराध न्यूज ब्यूरो प्रमुख महराजगंज से रामसागर मिश्र की रिपोर्ट।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here