अपने दबंगई के बल पर दरोगा शंखधर भट्ट ने भैंसें चराने गये बुर्जग शख्स उम्र ( 73 )की पिटाई कर दी।

दबंग दरोगा ने ऐसे कई बड़े कारनामे कर चुके हैं। दबंग दरोगा जहां भी जिस थाने में मिली तैनाती वहां की जनता हो रही परेशान।शासन व प्रशासन पुलिस अधिकारियों को निर्देशित करती है कि पुलिस अपनी छवि को धूमिल न करें जनता के साथ अच्छे संबंध बना के रखें साथ ही माननीय योगी आदित्यनाथ जी ने भी कहा था कि पुलिस जनता के साथ अच्छे संबंध बनायें जनता के साथ अभ्रदता न करें ऐसी कोई घटना होती है तो बक्शा नहीं जायेगा।

घटना 09/ 07/2019 की दोपहर बाद 03:30 बजे की घटना है।

धौरहरा कोतवाली क्षेत्र सेमरी गांव में छोटेलाल भार्गव पुत्र बंसी भार्गव उम्र लगभग 73 बर्ष का बुर्जग शख्स अपनी भैंसें चरा रहा था तभी अचानक वहां मौके पर पहुंचे दबंग दरोगा ने पीडिंत बुर्जग से पुछताछ करनी शुरू कर दी शराब कहां बनती है बुर्जुग ने जबाव दिया कि साहब हम भैंस चराने आये है हमें शराब से कोई मतलब नहीं है। साहब हम का जाने कहां बनती है कहां नहीं बस इतने में दरोगा ने बुजुर्ग के हाथ से लाठी छीन लिया और मारने लगे बुजुर्ग के पुछने पर गन्दी गन्दी गालियां देते हुए कहा साले शराब बनाते हो पीडिंत को मारने पीटने लगे पीडिंत को काफी गंभीर चोटें आई और दबंग दरोगा ने पीड़ित को गाड़ी में बैठा लिया थाने ले आये उच्च अधिकारियों से बात होने के बाद दबंग दरोगा ने पीड़ित छोटेलाल पुत्र बंसी भार्गव निवासी गांव सेमरी कोतवाली धौरहरा को दफा ६०(२) में फर्जी तरीके से फंसाने को कहा और उसे बाद में छोड़ दिया गया है।

पिछले 18 तारीख को लाइन हाजिर थे दबंग दरोगा शंखधर भट्ट कोतवाली धौरहरा में तैनात हैं
इससे पहले ऐसी ही घटना में वह लाइन हाजिर हुआ था। पत्रकार ने फोन पर बात की कोतवाल साहब से जब बात की गई तो उन्होंने कहा हमारे यहां से रवानगी नहीं हुई है फिर पत्रकार ने कहा जब वह लाइन हाजिर हुये हैं उसको रवानगी करिए तो कहा हां कर देंगे तो कहीं ना कहीं से जिम्मेदार कोतवाल साहब भी हैं और इस घटना की तरफ एसपी साहब भी नहीं ध्यान दें रही हैं। ढ़खेरवा चौकी के अन्तर्गत लूटकांड जैसी घटनाओं के कारनामे है। पीड़ित छोटेलाल पुत्र बंसी भार्गव ने थाने पर लिखित प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है देने गये तो धौरहरा कोतवाली में प्रार्थना पत्र लेकर रख लिया है कार्यवाही करने की कृपा की जाये।पर उस प्रार्थना पत्र की पीडिंत को रिसीविंग नही दी गयी है। थानों में पीड़ितों को रीसीविंग देने का प्रावधान है या फिर नहीं जब नवागत पुलिस अधीक्षिका का दौरा निघासन कोतवाली परिसर में हुआ था तभी एक वकील साहब ने प्रश्न किया था कि हर थानों पर पीड़ितों को रीसीविंग के तौर पर एक पर्ची उपलब्ध कराई जाए ताकि पीड़ितों को इसका लाभ मिल सके। एसपी ने भरोसा दिलाया था कि हर थानों में पीड़ितों को रीसीविंग देने का प्रावधान किया जायेगा।किसी थाने पर ऐसा नहीं हुआ। लेकिन एसपी के आदेशों को और साथ ही शासन प्रशासन की भी धज्जियां उड़ाई जा रही है

आज का अपराध न्यूज़
रिपोर्ट शादाब खान
लखीमपुर खीरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here